abhivainjana


Click here for Myspace Layouts

Followers

Tuesday, 20 August 2013

रक्षा बंधन पर कुछ हायकु

                                                                             

रक्षा बंधन

पवित्र प्यार का

पर्व निराला


राखी का तार

बन नेह बंधन

आया द्वार


भाई का मान

बहन की दुलार

रेशमी तार


तिलक लगा

 भाई के माथे पर

दिया आशीष


इस जग में

प्यार बहन का

है अनमोल


धर्म जाति का

बंधन नहीं जाने

अनोखा नाता


 थाल सजाओ

अक्षत रोली मिठाई

आया है भाई


************

सभी मित्रों को रक्षाबंधन  की शुभकामनाएं

महेश्वरी कनेरी

33 comments:

  1. आपको भी रक्षाबंधन की शुभकामनाएँ ....

    ReplyDelete
  2. बहुत सुंदर कोमल भाव..आपको भी राखी की शुभकामनायें !

    ReplyDelete
  3. राखी के भाव खिल उठे हैं हाइकु में!
    सुन्दर!

    ReplyDelete
  4. रक्षाबंधन पर राखी के भावों को हाइकू के माध्यम से बड़ी खूबशूरती से उकेरा है। बधाई!!!

    ReplyDelete
  5. भाई बहन के अटूट प्यार को दर्शाती बहुत खुबसूरत हायकू... शुभकामनाएं !!

    ReplyDelete
  6. आपकी उत्कृष्ट प्रस्तुति बुधवारीय चर्चा मंच पर ।।

    ReplyDelete
  7. रक्षाबंधन की हार्दिक शुभकामनाएँ!
    -----------------------

    कल 21/08/2013 को आपकी पोस्ट का लिंक होगा http://nayi-purani-halchal.blogspot.in पर
    धन्यवाद!

    ReplyDelete
    Replies
    1. धन्यवाद यशवन्त..

      Delete
  8. बढिया प्रस्तुति
    बहुत सुंदर

    ReplyDelete
  9. बहुत सुन्दर भाव हैं दी....
    इस सुन्दर पर्व की ढेर सारी शुभकामनाएं..

    सादर
    अनु

    ReplyDelete
  10. बहुत सुन्दर हाइकु
    रक्षा बंधन के पावन पर्व पर आपको शुभकामनाएँ..
    :-)

    ReplyDelete
  11. रक्षा बंधन के सन्दर्भ में सुन्दर ... लाजवाब हाइकू है सभी ...
    इस पावन पर्व की ढेरों बधाई ...

    ReplyDelete
  12. सुन्दर भाव..राखी की शुभकामनायें !

    ReplyDelete
  13. भाई बहन के प्यार को संजोये सुन्दर हाईकू
    रक्षाबंधन की बधाई व शुभकामनाएँ !
    सादर!

    ReplyDelete
  14. बहुत ही सुंदर,रक्षा बंधन की हार्दिक बधाई व शुभकामनाएँ !

    ReplyDelete
  15. बहुत सुंदर हाइकु । आपको भी स्नेह-पर्व की बधाई !

    ReplyDelete
  16. रक्षाबंधन की शुभकामनाएँ !

    ReplyDelete
  17. इस जग में

    प्यार बहन का

    है अनमोल


    धर्म जाति का

    बंधन नहीं जाने

    अनोखा नाता

    बहुत सुंदर हाइकु रक्षाबंधन की शुभकामनाएँ *******

    ReplyDelete
  18. सुन्दर ,सरल और प्रभाबशाली रचना। बधाई। कभी यहाँ भी पधारें।
    सादर मदन
    http://saxenamadanmohan1969.blogspot.in/
    http://saxenamadanmohan.blogspot.in/

    ReplyDelete
  19. बहुत सुंदर भावों से परिपूर्ण हाइकु !
    "रक्षा-बंधन की हार्दिक शुभकामनाएँ!" :-)

    (छोटा मुँह बड़ी बात कह रहे हैं... हो सके तो क्षमा कर दीजिएगा - दूसरे हाइकु की अंतिम पंक्ति में 'पाँच' की जगह 'चार' ही अक्षर हैं...., आप चाहें तो उसे ठीक कर लीजिएगा)

    ~सादर!!!

    ReplyDelete
  20. बहुत सुंदर हाइकू
    आपको भी रक्षाबंधन की शुभकामनाएँ
    latest post नेताजी फ़िक्र ना करो!
    latest post नेता उवाच !!!

    ReplyDelete
  21. बहुत ही सुंदर हाइकू
    राखी की ढेरो शुभकामनाये

    यहाँ भी पधारे

    http://shoryamalik.blogspot.in/2013/08/blog-post_6131.html

    ReplyDelete
  22. भावों की कोमलता का त्योहार।

    ReplyDelete
  23. भाई बहन के स्नेह से लबरेज़ कोमल एहसासों से सजे सुंदर हाइकू...आपको भी इस पावन पर्व की हार्दिक शुभकामनायें।

    ReplyDelete
  24. अनुपम भाव सहेजते ये हाइकू ....

    ReplyDelete
  25. सुंदर भावों से सजे हाइकू. रक्षाबंधन की आपको शुभकामनाएँ.

    ReplyDelete
  26. waah bhawon se paripurn dil bhar aaya ....

    ReplyDelete
  27. रचना तक मै देर में पहुच सका ......पर अपने बहुत सुन्दर रचना लिखी है ....सादर आभार .

    ReplyDelete
  28. स्नेही धागा मुबारक हो आपको !

    ReplyDelete
  29. वाह हाइकु ...वो भी सुंदर भावों से ओत-प्रोत
    ...बचपन में मनाये राखी के त्यौहार की याद आ गयी

    ReplyDelete