abhivainjana


Click here for Myspace Layouts

Followers

Wednesday, 4 September 2013

गुरू महिमा


शीश झुकाऊँ ,नमन करूँ

चरण पखारूँ सुबह शाम

विद्या बुद्धि के दाता 

हे गुरूवर तुम्हें प्रणाम....

खोल  ज्ञान चक्षु द्वार

भर देते दिव्य प्रकाश

दिशा देते ,राह दिखाते

 अमूल्य ज्ञान निष्काम

 हे गुरूवर तुम्हें प्रणाम………..

तुम  ज्ञान  गुण सागर

मैं मूर्ख बूँद समान

तुम  पुष्प कमल कुंज

मै कंटक हूँ नाकाम

हे गुरूवर तुम्हें प्रणाम………….

देवो में सर्वोच्च नाम तुम्हारा

कह  गये  संत कबीरा

तुम  बिन  ज्ञान अधूरा

गुरूचरण है साँचा धाम

हे गुरूवर तुम्हें प्रणाम…………….

*********

शिक्षक दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं

महेश्वरी कनेरी

40 comments:

  1. शिक्षक दिवस पर बधाई .... बहुत सुंदर प्रस्तुति

    ReplyDelete
  2. हे गुरूवर तुम्हें प्रणाम....
    ***
    सुन्दर प्रस्तुति!

    ReplyDelete
  3. बहुत सुन्दर भाव,
    गुरु बिन ज्ञान नहीं....

    सादर
    अनु

    ReplyDelete
  4. हे गुरूवर तुम्हें प्रणाम
    सुन्दर प्रस्तुति ....
    सादर प्रणाम

    ReplyDelete
  5. शिक्षक दिवस पर बधाई !

    ReplyDelete
  6. बहुत ही सुंदर गुरू वंदना. शुभकामनाएं.

    रामराम.

    ReplyDelete
  7. सभी शिक्षकों को सादर नमन!

    ReplyDelete
    Replies
    1. आपको सूचित करते हुए हर्ष हो रहा है कि हिंदी ब्लॉगर्स चौपाल पर आज की चर्चा मैं रह गया अकेला ..... - हिंदी ब्लॉगर्स चौपाल - अंकः003 में हम आपका सह्य दिल से स्वागत करते है। कृपया आप भी पधारें, आपके विचार मेरे लिए "अमोल" होंगें | सादर ....ललित चाहार

      Delete
  8. कल 05/09/2013 को आपकी पोस्ट का लिंक होगा http://nayi-purani-halchal.blogspot.in पर
    धन्यवाद!

    ReplyDelete
  9. सुन्दर प्रस्तुति-
    आभार आदरेया-

    आदि गुरु को सादर नमन-

    ReplyDelete
  10. शिक्षक जीवन का आधार बनाता है. सुंदर रचना.

    ReplyDelete
  11. Replies
    1. आपको सूचित करते हुए हर्ष हो रहा है कि हिंदी ब्लॉगर्स चौपाल पर आज की चर्चा मैं रह गया अकेला ..... - हिंदी ब्लॉगर्स चौपाल - अंकः003 में हम आपका सह्य दिल से स्वागत करते है। कृपया आप भी पधारें, आपके विचार मेरे लिए "अमोल" होंगें | सादर ....ललित चाहार

      Delete
  12. Replies
    1. आपको सूचित करते हुए हर्ष हो रहा है कि हिंदी ब्लॉगर्स चौपाल पर आज की चर्चा मैं रह गया अकेला ..... - हिंदी ब्लॉगर्स चौपाल - अंकः003 में हम आपका सह्य दिल से स्वागत करते है। कृपया आप भी पधारें, आपके विचार मेरे लिए "अमोल" होंगें | सादर ....ललित चाहार

      Delete
  13. सभी शिक्षकों को प्रणाम

    ReplyDelete
  14. बहुत ही सुंदर गुरू वंदना........सभी शिक्षकों को सादर नमन!

    ReplyDelete
  15. शिक्षक दिवस की हार्दिक शुभकामनायें।

    ReplyDelete
  16. गुरुवार तुम्हें प्रणाम..
    बहुत अच्छी रचना.
    सभी शिक्षकों को शिक्षक दिवस की हार्दिक शुभकामनायें.

    ReplyDelete
    Replies
    1. आपको सूचित करते हुए हर्ष हो रहा है कि हिंदी ब्लॉगर्स चौपाल पर आज की चर्चा मैं रह गया अकेला ..... - हिंदी ब्लॉगर्स चौपाल - अंकः003 में हम आपका सह्य दिल से स्वागत करते है। कृपया आप भी पधारें, आपके विचार मेरे लिए "अमोल" होंगें | सादर ....ललित चाहार

      Delete
  17. इस पावन अवसर पर सुंदर भाव लिए सार्थक अभिव्यक्ति ...:)

    ReplyDelete
  18. बहुत सुंदर भाव..... शिक्षक दिवस की बधाई !!

    ReplyDelete
  19. बहुत सुन्दर भाव है आपकी रचना में...
    अति सुन्दर रचना...
    शिक्षक दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं...
    :-)

    ReplyDelete
  20. बहुत सुंदर भाव ...शुभकामनायें

    ReplyDelete
  21. गुरु हस्ती रहेगी ...हमेशा महान !

    ReplyDelete
  22. शिक्षक दिवस की हार्दिक शुभकामनायें।

    ReplyDelete
  23. गुरु महिमा के प्रकाशन के लिए प्रणाम

    ReplyDelete
  24. शिक्षक दिवस की हार्दिक शुभकामनाएँ|
    बहुत ही सुंदर ,सार्थक रचना |
    - “अजेय-असीम"

    ReplyDelete
  25. शत-शत नमन गुरु को..

    ReplyDelete
    Replies
    1. आपको सूचित करते हुए हर्ष हो रहा है कि हिंदी ब्लॉगर्स चौपाल पर आज की चर्चा मैं रह गया अकेला ..... - हिंदी ब्लॉगर्स चौपाल - अंकः003 में हम आपका सह्य दिल से स्वागत करते है। कृपया आप भी पधारें, आपके विचार मेरे लिए "अमोल" होंगें | सादर ....ललित चाहार

      Delete
  26. बहुत सुन्दर प्रस्तुति..
    आपने लिखा....हमने पढ़ा....
    और आप भी पढ़ें; ... मैं रह गया अकेला ..... - हिंदी ब्लॉगर्स चौपाल - अंकः003 हम आपका सह्य दिल से स्वागत करते है। कृपया आप भी पधारें, आपके विचार मेरे लिए "अमोल" होंगें | सादर ....ललित चाहार

    ReplyDelete
  27. धन्यवाद ललीत जी

    ReplyDelete
  28. शत-शत नमन... बहुत सुन्दर प्रस्तुति...शुभकामनायें

    ReplyDelete



  29. बहुत सुन्दर गुरु वन्दना

    ReplyDelete
  30. बहुत सुन्दर प्रस्तुति...

    ReplyDelete
  31. बहुत सुंदर रचना

    ReplyDelete