abhivainjana


Click here for Myspace Layouts

Followers

Thursday, 14 March 2013

देव आशीष


देव आशीष
अचरज़ भरे खोल नयन,
टुकुर टुकुर देख वो मुस्काया
उतर कर नन्हा चाँद जैसे
 गोदी में मेरे आ समाया
झूम झूमकर ,चूम रहा
 मस्तक पवन भी इठलाके
भोर ने भी किया स्वागत
 किरणों की थाल सजाके
सरस अनुभूति का
 अहसास जगा विहल मन में
खिल उठा नवल धूप
 आज फिर मेरे आँगन में
धन्य हुई ,नत मस्तक हूँ
 पाकर ये आशीष तुम्हारा
कोटि-कोटि नमन प्रभु ,
सब में बसा स्वरूप तुम्हारा
****************
महेश्वरी कनेरी
मित्रों आज बहुत समय बाद वापस ब्लांग जगत में लौटकर आई हूँ..कारण .मेरे घर एक नन्हा सा मेहमान मेरा पोता आया है. जिसने मेरे वक्त को अपने ही इर्द गिर्द
चारों तरफ घेर कर रख दिया..चाह कर भी समय निकाल नहीं पारही हूँ.शायद यही है मोह माया का बधंन.....लेकिन ये बंधन भी बहुत प्यारा लगता है..

43 comments:

  1. नन्हे मेहमान का स्वागत और उसे ढेरों आशीषें

    ReplyDelete
  2. क्या बात है
    बहुत सारा प्यार

    ReplyDelete
  3. प्यारे मेहमान का स्वागत और शुभ आशीष.

    ReplyDelete
  4. आपने नए महमान का स्वागत इतनी प्यारी कविता से किया है कि भावनाएं व्यक्त करने के लिए शब्द ही नहीं मिल रहे |मेरी और से उसे शुभ आशीष और स्नेह |
    आशा

    ReplyDelete
  5. शुभाशीष के साथ शुभागमन नन्हे पौत्र का!
    बधाई हो...!

    ReplyDelete
  6. नन्हे को मेरी और से स्नेहाशीष
    और आपको बधाइयां ढेर सारी
    इस सुंदर भावाभिव्यक्ति के लिए भी ,
    साभार.........

    ReplyDelete
  7. नन्हें राजा को शुभ आशीष ...
    और आपको बहुत-बहुत बधाई....
    :-)

    ReplyDelete
  8. पोते को बहुत-बहुत प्यार आशीर्वाद और ढेरों शुभकामनायें ....
    बहुत खुश हूँ कि आप दोबारा दादी बन लाड लगा रही होगीं.... :))
    दीदी कमी खलती हैं आपकी
    सादर !!

    ReplyDelete
  9. दी आप सभी को बधाई और नन्हें राजा को स्नेहाशीष.

    सादर
    अनु

    ReplyDelete
  10. नन्हें को ढेर सारा प्यार और आशीष ....और आपको बहुत बधाई ....

    ReplyDelete
  11. नवागंतुक नन्हे को स्नेह आशीष और आपको बधाई :)
    सादर !

    ReplyDelete
  12. पौरा पोतक पौत्र पे, करे निछावर प्यार ।

    माया बंधन ना कहें, यह है स्नेह दुलार ।

    यह है स्नेह दुलार, मुबारक होवे दादी ।

    देखभाल खिलवाड़, करो नित नहीं मुनादी ।

    रविकर का आशीष, ख़ुशी से गूंजे चौरा ।

    रहे स्वस्थ सानन्द, होय बल बुद्धि पौरा ॥



    पौरा =आगमन

    पोतक=तीन माह का

    ReplyDelete
  13. आपकी उत्कृष्ट प्रस्तुति का लिंक लिंक-लिक्खाड़ पर है ।।

    ReplyDelete
  14. कोटि-कोटि नमन प्रभु ,
    सब में बसा स्वरूप तुम्हारा
    behtareeen !

    ReplyDelete
  15. पोते ने दादी को ब्लॉग पर आने से रोक दिया...
    शाबाश पोते जी...ढेरों आशीर्वाद समेट लो हमाराः):)

    ReplyDelete
  16. bahut dher sibadhai aapko.......

    ReplyDelete
  17. नन्हे रजा को इस जगत में स्वागत .आपको बहुत बहुत बधाई
    latest postउड़ान
    teeno kist eksath"अहम् का गुलाम "

    ReplyDelete
  18. पोते को ढेर सारा सस्नेह प्यार और आपको बहुत२ बधाई ,,,,,

    बीबी बैठी मायके , होरी नही सुहाय
    साजन मोरे है नही,रंग न मोको भाय..
    .
    उपरोक्त शीर्षक पर आप सभी लोगो की रचनाए आमंत्रित है,,,,,
    जानकारी हेतु ये लिंक देखे : होरी नही सुहाय,

    ReplyDelete
  19. वात्सल्य से ओतप्रोत पंक्तियाँ

    ReplyDelete
  20. बहुत सुंदर भाव संजोये हैं दादी ने..... बधाई आप सभी को ...

    ReplyDelete
  21. नन्हे मुन्ने प्यारे राज दुलारे को ढेरों स्नेह आशीष और आप सभी को अनेकों बधाई .

    ReplyDelete
  22. बहुत बहुत बधाई ... ईश्वर की कृपा ...
    आप ऐसे ही दुलार लुटाती रहें ... अनुओं भाव लिए हैं आपकी पंक्तियाँ ...

    ReplyDelete
  23. nanhe munne ko dheron ashish or aap sabhi ko bahut bahut badhaiyan...

    ReplyDelete
  24. बहुत बहुत बधाई आंटी!
    देव आशीष हमेशा मुसकुराते और खुश रहें!


    सादर

    ReplyDelete
  25. आप सब को 'पौत्र रत्न'प्राप्ति की हार्दिक मंगलकामनाए।
    नवागंतुक के उज्ज्वल भविष्य की शुभकामना व आशीर्वाद।

    ReplyDelete
  26. दाऊ जी का सुबह की किरणों से स्वागत इश्वर का स्वरुप हैं

    ReplyDelete
  27. बहुत बहुत बधाई..स्वागत है नन्हे मेहमान का..ब्लॉग जगत में

    ReplyDelete
  28. यह आपको बहुत प्यार देगा !
    बधाई आपको !

    ReplyDelete

  29. दिनांक 18/03/2013 को आपकी यह पोस्ट http://nayi-purani-halchal.blogspot.in पर लिंक की जा रही हैं.आपकी प्रतिक्रिया का स्वागत है .
    धन्यवाद!

    ReplyDelete
    Replies
    1. धन्यवाद ्यशवंत..

      Delete
  30. vatsalya bhaav se bhari sunder rachna

    shubhkamnayen

    ReplyDelete
  31. पोते को स्नेह और दादी को बधाई .....

    ReplyDelete
  32. बहुत सुद्नर आभार आपने अपने अंतर मन भाव को शब्दों में ढाल दिया
    आज की मेरी नई रचना आपके विचारो के इंतजार में
    एक शाम तो उधार दो

    आप भी मेरे ब्लाग का अनुसरण करे

    ReplyDelete
  33. Dadi Banane pr hardik badhai ......rachana to apki nishchay hi sangrhneey ho gyee ...achchhi rachana ke liye sadar aabhar.

    ReplyDelete
  34. लल्ला का स्वागत है | खुदा नजर-ए-बद से बचाए | बहुत बहुत आशीष और प्यार | मुबारक हो |

    कभी यहाँ भी पधारें और लेखन भाने पर अनुसरण रूप में स्नेह प्रकट करने की कृपा करें |
    Tamasha-E-Zindagi
    Tamashaezindagi FB Page

    ReplyDelete
  35. आपको बहुत बहुत बधाई. पोते को दुलार......

    ReplyDelete
  36. धन्य हुई ,नत मस्तक हूँ
    पाकर ये आशीष तुम्हारा
    कोटि-कोटि नमन प्रभु ,
    सब में बसा स्वरूप तुम्हारा
    आपको बहुत बहुत बधाई

    आग्रह है मेरे ब्लॉग मैं भी सम्मलित हो
    jyoti-khare.blogspot.in
    आभार आपका

    ReplyDelete
  37. बहुत बहुत बधाई...

    ReplyDelete
  38. पोता के जन्म पर हार्दिक बधाई. सुन्दर रचना.

    ReplyDelete
  39. नन्हे मेहमान को अशेष आशीष ....और आपको ढेरों बधाइयां .......यह सुख अलौकिक है ....:यह रचना एक दादी का प्यारा सा चुम्बन है अपने पोते के प्रशस्त ललाट पर .....:)

    ReplyDelete
  40. नन्हें मेहमान के आने पर बधाई .....

    ReplyDelete