abhivainjana


Click here for Myspace Layouts

Followers

Saturday, 2 February 2013

अगले मौसम का इंत़जार


26 comments:

  1. इंतजार का भी अपना एक आनंद है..

    ReplyDelete
  2. आपकी उत्कृष्ट प्रस्तुति शुक्रवार के चर्चा मंच पर ।।

    ReplyDelete
  3. बहुत ही सुन्दर,एव सार्थक अभिव्यक्ति।

    ReplyDelete
  4. सार्थक अभिव्यक्ति।,,,,

    कहते है लोग मौत से बदतर है इन्तजार,
    मेरी तमाम उम्र कटी इन्तजार में !,,,,,,,

    RECENT POST शहीदों की याद में,

    ReplyDelete
  5. अब मौसम जरुर बदलेगा .सबको ख़ामोशी से उसी का इन्तेजार है.
    New postअनुभूति : चाल,चलन,चरित्र

    ReplyDelete
  6. जब सुख की आशा औरों से रखी जाये तो जीवन में पतझड़ आने लगता है..

    ReplyDelete
  7. सही दीदी :)) उम्दा अभिव्यक्ति !!
    सादर !!

    ReplyDelete
  8. Priyankaabhilaashi has left a new comment on post "अगले मौसम का इंत़जार":

    सच कहा आपने..सब अगले मौसम के इंतज़ार में हैं..

    ReplyDelete
  9. इंतजार और खुशियों के पहले की उदासी..
    जब खुशियाँ आएँगी फिर मौसम का रुख जगमगा जायेगा...
    बहुत ही सुन्दर रचना...
    :-)

    ReplyDelete
  10. उन्हें भी इंतज़ार है वसंत का...

    उन्हें भी इंतज़ार है हंसने खिलखिलाने का....

    सुन्दर रचना है दी...
    सादर
    अनु

    ReplyDelete
  11. बहुत ही सुन्दर....वैचारिक भाव है रचना में ....

    ReplyDelete
  12. बहुत सुन्दर रचना ! प्रतीक्षा और परिवर्तन को प्रकृति के माध्यम से बहुत खूबसूरती से अभिव्यक्त किया है ! बधाई आपको !

    ReplyDelete
  13. मौसम का इंतज़ार तो सभी को होता है

    ReplyDelete
  14. This comment has been removed by the author.

    ReplyDelete
  15. निःशब्द करती रचना .मौसम की आहट या कहूँ दस्तक की दास्ताँ बयाँ करती

    ReplyDelete
  16. सुन्दर भाव सम्प्रेषण..बहुत ही अच्छी लगी...

    ReplyDelete
  17. भावों की बहुत सुन्दर अभिव्यक्ति...

    ReplyDelete
  18. चित्र और गीत की बहुत सुन्दर प्रस्तुति!

    ReplyDelete
  19. अनुपम भाव संयोजित किये हैं आपने ... इस अभिव्‍यक्ति में
    आभार

    ReplyDelete
  20. प्रकृति के संग संग हम सभी को को ऋतु राज वसंत का इन्तजार है
    सादर !

    ReplyDelete
  21. रश्मि प्रभा.. has left a new comment on my post "अगले मौसम का इंत़जार":

    जाने कब होगा ये इंतज़ार खत्म

    ReplyDelete
  22. डॉ. जेन्नी शबनम has left a new comment on my post "अगले मौसम का इंत़जार":

    एक पड़ाव से दूसरा पड़ाव, ठिठक जाना स्वाभाविक है... बहुत सुन्दर रचना, बधाई.

    ReplyDelete
  23. sundar Abhivyakti...
    http://ehsaasmere.blogspot.in/2013/02/blog-post.html

    ReplyDelete
  24. Beautifully expressed the waiting of nature and of a human heart.

    ReplyDelete