abhivainjana


Click here for Myspace Layouts

Followers

Wednesday, 13 July 2011

एक रोचक यात्रा

हैदराबाद सिटी
प्रिय मित्र बन्धु गण..आप सभी की शुभकामनाओ के फल स्वरुप मैं अपने अत्यंत रोचक लघु  यात्रा से सकुशल वापस लौट कर पुन: आप सब के बीच आगई हूँ और मैं बहुत ही सुखद सुन्दर अहसासो को अपनी यादों की झोली में समेट कर ले लाई हूँ ।जिन्हें मैं आप सब के साथ बाँटना चाहती हूँ ।

चार मीनार

ये है निज़ामों की नगरी हैदराबाद –जिसने अपने गर्भ में न जाने कितनी ऎतिहासिक घटनाएँ कहानियों के रुप में संजोकर रखी हैं


ओल्ड हैदराबाद में लाट बाजा़र- जहाँ पुरानी सभ्यता और संस्कृति की झलक आज भी देखने को मिलती है

यहाँ बाजार में स्त्रियों के लिए साज सज्जा की सभी चींजें हैं  

शिल्पारमन हाट
आईए अब आधुनिक हैदराबाद हाईटैक सिटी की कुछ झलक देखे 
Mall

           रामूजी फिल्म सिटी जो पर्यटकों के लिए मुख्य आकर्षण है          

Fundustan in Ramu ji film city
In Ramu ji film city
Snow world
Switzerland in Hyderabad
जी हाँ  यहाँ सब बर्फ ही बर्फ है-अब गर्म प्रदेश में भी स्नोफाल का मज़ा ले सकते हैं 
हैदराबाद आकर भी यहाँ की बिरयानी नही खाई तो ….. बिरयानी की इंतजा़र में मेरा परिवार

बार-बार कहने को मन करता है “मेरा भारत महान” । सच में आज यहाँ क्या नहीं जो विदेशों में है
जो यहाँ है वो विदेशों में नहीं -यहाँ की सभ्यता यहाँ की संस्कृति यहाँ की आस्था….. संक्षेप में
हैदराबाद मुस्लिम और हिन्दु संस्कृति और सभ्यता का मिलाजुला शहर है……..
................

30 comments:

  1. बिरयानी होती है मांसाहारी और मैं तो बिल्कुल ना खाऊ।

    ReplyDelete
  2. वाकई बहुत रोचक यात्रा रही आपकी.
    अच्छा लगा इन चित्रों को देख कर.


    सादर

    ReplyDelete
  3. बहुत रोचक विवरण..आपके चित्रों ने तो हैदराबाद की यात्रा करा दी.. आभार.

    ReplyDelete
  4. haiderabad ki yatra hamne bhi kar lee ...........
    sunder

    ReplyDelete
  5. chitra aur aapka saath... yatra hamari bhi ho gai

    ReplyDelete
  6. शानदार चित्रों के साथ आपने हैदराबाद के दर्शन कराये,इसके लिए बहुत बहुत आभार.
    अब से लगभग तीस साल पहले हैदराबाद आना जाना रहता था.
    कितना सब कुछ बदल गया लगता है.
    सालारजंग म्यूजियम,गोल कुंडा का किला,आदि भी देखे थे तब.

    ReplyDelete
  7. जी !हाँ भारत की संस्कृत और संस्कृति ,तहज़ीब सर्व -समावेशी है .यहाँ नियम हैं ,पालन हार नहीं हैं .न घर में न सरकार में .आपका हैदराबाद दर्शन हमने भी अभिभूत होकर देखा .राजनीति नटनी से हर दिल आजिज़ आ चुका है उसकी क्या बात करना .चित्र मय झांकी टिप्पणियों सहित हैदराबाद की लोक लुभाऊ है .आभार .

    ReplyDelete
  8. शानदार चित्र, रोचक विवरण,
    आभार
    विवेक जैन vivj2000.blogspot.com

    ReplyDelete
  9. वाह ... आपके साथ हेदराबाद की सैर का मज़ा आ गया ... फोटो बहुत कमाल के हैं ... आभार हेदराबाद दर्शन कराने का ...

    ReplyDelete
  10. Thanks for sharing beautiful photographs of Hyderabad clicked during your memorable journey.

    ReplyDelete
  11. यह सचित्र प्रस्‍तुति बहुत ही अच्‍छी लगी ..।

    ReplyDelete
  12. सचित्र मुफ्त यात्रा कराने के लिए धन्यवाद.

    ReplyDelete
  13. जुड़वां -बदन हैदराबाद -सिकन्दरा -बाद की दूर तक साथ चलती रोशनियाँ ही हमने तो जहाज -हवाई से अब देखी थीं .नीचे की आलोक मय आभा और नगर सौन्दर्य आपके कैमरे की आँख और कलम ने साकार किया .ब्लॉग दर्शन के लिए आभार न कहूं तो और क्या कहूं .

    ReplyDelete
  14. beautiful pics
    value of 50 Rupees equal to 1 us dollar says it all.
    If you want to know what India does not have please use the poverty line of USA and Germany and apply it to India,
    Then you will realize where India stands.

    ReplyDelete
  15. सभी मित्र बंधुओ को सादर धन्यवाद..आप के उत्साहवर्धन शब्द मेरे भावो और विचारो को और मुखरित करेगे.....धन्यवाद..

    ReplyDelete
  16. दिलचस्प यात्रा संस्मरण...रोचक प्रस्तुति...चित्र भी बहुत अच्छे हैं।
    सालारजंग म्यूजियम भी देखा न !

    ReplyDelete
  17. आपकी पोस्ट आज के चर्चा मंच पर प्रस्तुत की गई है
    कृपया पधारें
    चर्चा मंच

    ReplyDelete
  18. हैदराबाद और सिकंदराबाद मिलकर बना यह जुड़वाँ शहर (twin city) वाकई बहुत ही सुन्दर व बहुत बड़ा है.आपने बहुत फोटो past की है. अच्छा लगा. एक बार ढाई- तीन महीने रहने का मौकामुझे भी मिला.गोलकुंडा फोर्ट, हुसैन सागर, बिडला मन्दिर, निजाम का संग्रहालय आदि तो छूट ही गया.

    ReplyDelete
  19. सुन्दर चित्र और वर्णन| बधाई |मेरे ब्लॉग पर आने के लिए आभार |

    आशा

    ReplyDelete
  20. अच्छा लगा हमारा हैदराबाद शहर आपको पसंद आया !
    मेरे ब्लॉग पर आने के लिये आभार आपका !

    ReplyDelete
  21. मैं बचपन में तो हैदराबाद गई थी पर अब कुछ याद नहीं है. आपने अच्छी तरह हैदराबाद घुमा दिया.

    ReplyDelete
  22. aapne bahut sunderta se likha hai aur ek baat photo ko kamal ke hain .
    aanand aaya yatra ka
    saader
    rachana

    ReplyDelete
  23. sunder yatra vratant..hyderabad ghumane ke liye bahut bahut aabhar..........ab to hamara bhi man ho raha hai Hyd. ghumne ka.......badhai itni sunder yatra ke liye.........umeed hai jald hi aap hume kisi nayi yatra per le chalengi............aabhar

    ReplyDelete
  24. आपने तो पूरा हैदराबाद ही घुमा दिया :)...... आभार !

    ReplyDelete
  25. Thanks for this beautiful post. I have never been to this lovely place but the post has helped me in knowing and visiting the city virtually. Thanks again.

    ReplyDelete
  26. रोचक पोस्ट के लिए आभार..

    ReplyDelete
  27. bahut rochak yatra karayee hai aapne haidrabad ki aabhar

    ReplyDelete
  28. आनन्द आया हैदराबाद तस्वीरों में घूम कर....बिरयानी सा स्वाद!!

    ReplyDelete