abhivainjana


Click here for Myspace Layouts

Followers

Thursday, 17 November 2016

नव भारत





न लाठी चली न आवाज हुई 
मगर नोट पर चोट करारी है 
सोच समझ कर खामोशी से 
की गई ये तैयारी है

संभल जाओ ये  गद्दारो 
 जाने अब किसकी बारी है 
बज उठा बिगुल नव भारत का 

देश बदलने की तैयारी है 
*****
महेश्वरी कनेरी 

6 comments:

  1. modi ji ne kaale dhan ko bharat waapis laane ka waada bakhubi nibhaya hai . is nirnay ke liye hame PM Narendra Modi ji ka saath dena chaiye taaki Bharat se jamakhoro ka parda faash ho sake . jai hind

    MOUTH WATERING RECIPES OF INDIA

    ReplyDelete
  2. आपकी लिखी रचना "पांच लिंकों का आनन्द में" शनिवार 17 दिसंबर 2016 को लिंक की जाएगी ....
    http://halchalwith5links.blogspot.in
    पर आप भी आइएगा ....धन्यवाद!

    ReplyDelete